अन्य लिंक
 
रबी फसल चना

चना की कृष कार्यमाला

भूम का चुनाव एवं तैयारी

 

चने की खेती क्षारीय भूम के अतरक्त सभी प्रकार की मध्यम से भारी भूम भूम में की जा सकती है। खरीफ फसल कटाई उपरान्त हल या ट्रेक्टर से जुताई कर बखरनी की जावे । यद ढेले बहुत बड़े हो तो पटेला चलावें । यद ढ़ेले बहुत बड़े हों तो पलेवा कर खेत तैयार करें ।

बोने का समय

 

चने की बोआई का उपयुक्त समय १५  क्टूबर से १५ नवम्बर है। देरी से बोनी की स्थत में दसम्बर के प्रथम सप्ताह तक भी बोनी की जा सकती है। देरी से बोनी करने के लए कम  वध की कस्मों का चयन  ावयक होगा।

चने की उत्तम जातयाँ :

 

कस्म पकने की अवध

औसत पैदावार

क्व / हेक्टर

वोषताऐं
जवाहर चना ७४ ११० -१२० १५  १८ उकटा अवरोधी, देर से बुवाई के लये उपयुक्त
भारती (आई.सी.सी.व्ही. १०) ११० -१२० १२ -१५ उकटा अवरोधी
जवाहर चना २१८ ११५ -१२० १५-२० उकटा अवरोधी
वजय ११५ -१२० १२ -१५ उकटा अवरोधी
जवाहर चना ३२२ ११५ -१२५ १५-२० बड़ा दाना उकटा नरोधी तथा स्टंट वषाणु अवरोधी
जवाहर चना ११ ११५ १५-२०

बड़ा दाना उकटा नरोधी, ाुष्क मूल वगलन सहनषील

सूखा व चने की इल्ली के प्रत सहनषील

जवाहर चना १३० ९७-१०५ १५-२०

उकटा नरोधी, स्तम्भ मूल वगलन,

बीजीएम  तथा स्टंट  हेतु मध्यम अवरोधी

जवाहर चना १६ ११० १५-२० उकटा अवरोधी
जवाहर चना ३१५ ११५ १५-२० उकटा अवरोधी
बी.जी.डी. ७२ ११५-१२० ६ -७ उकटा अवरोधी
जाकी-९२१८ १०१ ९३-१२५ १८ उकटा अवरोधी
गुलाबी      
जवाहर गुलाबी चना १ १२०-१२५ ६ -७ भूनने के लये उपयुक्त
काबुली     उकटा अवरोधी, काबुली
काक २ ११०-१५० ६ -७ उकटा अवरोधी
जे.जी.के. १ ११०-१५० ६ -७ उकटा अवरोधी
बी.जी. १०५३ १२०-१२५ २० उकटा अवरोधी